प्रमुख उपलब्धियां

क्र.सं. महीना उपलब्धियां
1 दिसंबर, 2017
  1. जैसा कि वैकल्पिक तंत्र द्वारा अनुमोदित किया गया, सरकार ने इस माह के दौरान मजगांव डॉक लि. (एमडीएल), इरकॉन इंटरनेशनल लि. (इरकॉन), हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लि. (एचएएल), गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लि. (जीआरएसई) और एचएससीसी (इंडिया) लि. नामक पांच वापस खरीद पेशकशों में भाग लिया और इन वापस खरीद सौदों के माध्यम से क्रमशः 253.48 करोड़ रुपये, 190.59 करोड़ रुपये, 921.50 करोड़ रुपये, 77.63 करोड़ रुपये और 49.55 करोड़ रुपये की धनराशि जुटाई।
  2. भारत डायनामिक्स लि. (बीडीएल) और मिश्र धातु निगम लि. (मिधानी) की आईपीओ के लिए उच्च स्तरीय समिति और वैकल्पिक तंत्र की बैठकें क्रमशः 11 और 12 दिसंबर, 2017 को आयोजित की गई थी। वैकल्पिक तंत्र ने उच्च स्तरीय समिति की सिफारिशों पर विचार किया और बीडीएल तथा मिधानी के सूचीकरण के लिए विनिवेश की मात्रा और डीआरएचपी का अनुमोदन किया।
2 नवंबर, 2017
  1. इस माह के दौरान, न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लि. की आईपीओ को सब्सक्रिप्शन हेतु 01 नवंबर से 03 नवंबर, 2017 तक खोला गया था और इस सार्वजनिक निर्गम की सफल समाप्ति पर सरकार को लगभग 7653 करोड़ रुपये की धनराशि प्राप्त हुई।
  2. नेशनल एल्युमिनियम कंपनी लि. (नालको) के कर्मचारियों को शेयरों की पेशकश की सब्सक्रिप्शन के लिए खिड़की 01 नवंबर से 09 नवंबर, 2017 तक खोली गई थी। भारत सरकार को नालको की कर्मचारी ओएफएस से 50.51 करोड़ रुपये की धनराशि प्राप्त हुई।
  3. सरकार ने मजगांव डॉक लि. (एमडीएल) की वापस खरीद पेशकश में भी भाग लिया, जो 28 नवंबर और 04 दिसंबर, 2017 के बीच खोली गई थी। सरकार को इस सौदे के माध्यम से लगभग 253 करोड़ रुपये की धनराशि प्राप्त हुई।
  4. एक्सचेंज ट्रेडिड फंड (ईटीएफ) की भारत 22 ईटीएफ नामक नई फंड पेशकश जिसमें 22 विविधीकृत स्टॉक शामिल हैं, सब्सक्रिप्शन हेतु 14-17 नवंबर, 2017 के बीच खोली गई थी। पेशकश को निवेशकों के सभी हलकों से जबरदस्त प्रतिक्रिया हासिल हुई जैसे कि स्थायी निवेशक, रिटायरमेंट फंड, खुदरा निवेशक व अन्य अर्थात क्यूआईबी/एचएनआई। स्थायी खंड 6 गुना ओवर सब्सक्राइब हुआ जबकि पेशकश कुल मिलाकर 4 गुना से भी अधिक ओवर सब्सक्राइब हुई। एफआईआई श्रेणी के अधीन निर्गम से लगभग 1.5 बिलियन अमरीकी डॉलर (10,000 करोड़ रुपये) की धनराशि प्राप्त हुई। बड़ी संख्या में निवेशकों, विशेषकर खुदरा और रिटायरमेंट फंड श्रेणी के निवेशकों की मांग को पूरा करने के उद्देश्य से सरकार ने निर्गम के आकार को 14,500 करोड़ रुपये तक बढ़ाकर ओवर सब्सक्रिप्शन के भाग को अपने पास रखने का निर्णय लिया।
  • चालू वर्ष 2017-18 के लक्ष्य और अब तक की उपलब्धि

    क्र.सं. वित्त वर्ष लक्ष्य(रुपये करोड़ में) उपलब्धि (रुपये करोड़ में)
    1. 2017-18 72,500.00 (जिसमें सीपीएसईस के विनिवेश से 46,500 करोड़ रुपये, सामरिक विनिवेश से 15,000 करोड़ रुपये और बीमा कंपनीयों के निवेश के सूचीकरण से 11,000 करोड़ रुपये शामिल हैं।) 55,560.73(22.01.2018 की स्थिति के अनुसार)

    पिछले 6 वर्षों के लक्ष्य और उपलब्धियां

    क्र.सं. वित्त वर्ष लक्ष्य(रुपये करोड़ में) उपलब्धि (रुपये करोड़ में)
    1. 2011-12 40,000.00 13,894
    2. 2012-13 30,000.00 23,957
    3. 2013-14 40,000.00 15,819
    4. 2014-15 43,425.00 24,349
    5. 2015-16 41,000.00 (सामरिक विनिवेश से 28,500 रुपये को छोड़कर) 23,997*
    6. 2016-17 56,500 (जिसमें सीपीएसईस के विनिवेश से 36,000 करोड़ रुपये और सामरिक विनिवेश से 20,500 करोड़ रुपये शामिल हैं।) 46,246.58 (जिसमें सीपीएसईस के विनिवेश से 35,467.87 करोड़ रुपये और सामरिक धारिता के विनिवेश तथा एसयूयूटीआई के निवेश के प्रबंधन से आय से 10,778.71 करोड़ रुपये करोड़ रुपये शामिल हैं।)

    बजट घोषणाएं और कार्यान्वयन स्थिति, 2017-18

    क्र.सं. पैरा सं. घोषणा का सार कार्यान्वयन स्थिति
    1. 104 रेलवे पीएससीस जैसे कि आईआरसीटीसी, आईआरएफसी और इरकॉन के शेयरों को स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध किया जाएगा। इरकॉन
    (i) बीआरएलएम/विधिक सलाहकार/लेखापरीक्षक/पंजीयक की नियुक्ति कर ली गई है।
    (ii) बीआरएलएम तथा सीपीएसई द्वारा उचित उद्यमिता की जा रही है।
    (iii) वित्त वर्ष 2016-17 के लेखापरीक्षित लेखों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
    (iv) वापस खरीद अंतिम चरण में है।


    आईआरसीटीसी

    (i) बीआरएलएम/विधिक सलाहकार/लेखापरीक्षक/पंजीयक की नियुक्ति कर ली गई है।
    (ii) बीआरएलएम तथा सीपीएसई द्वारा उचित उद्यमिता की जा रही है।
    (iii) डीआरएचपी का मसौदा सत्र आरंभ हो गया है।
    (iv) विज्ञापन एजेंसी की नियुक्ति की कार्रवाई प्रगति पर है।


    आईआरएफसी

    (i) बीआरएलएम/विधिक सलाहकार/लेखापरीक्षक/पंजीयक की नियुक्ति कर ली गई है।
    (ii) बीआरएलएम तथा सीपीएसई द्वारा उचित उद्यमिता की जा रही है।

    2. 106 10 सीपीएसईस के शेयरों वाले हमारे ईटीएफ को हाल ही की अनुवर्ती फंड पेशकश (एफएफओ) को जबरदस्त प्रतिक्रिया हासिल हुई है। आगे भी शेयरों के विनिवेश के लिए हम ईटीएफ का एक साधन के रूप में उपयोग करते रहेंगे। तद्नुसार, एक नए ईटीएफ की वर्ष 2017-18 में शुरूआत की जाएगी जिसमें विविधीकृत सीपीएसईस के शेयर और अन्य सरकारी शेयरधारिता शामिल होगी। भारत 22 ईटीएफ सूचकांक की शुरूआत के बाद मसौदा स्कीम सूचना दस्तावेज (एसआईडी) सेबी के पास 25.09.2017 को दाखिल कर दिया गया है। नई फंड पेशकश की शुरूआत सरकार की संसाधन संबंधी आवश्यकता और बाजार परिस्थितियों को ध्यान में रखने के बाद की जाएगी।

    बजट घोषणाएं और कार्यान्वयन स्थिति, 2016-17


    क्र.सं. पैरा सं. घोषणा का सार कार्यान्वयन स्थिति
    1. 88 88 विनिवेश और सामरिक बिक्री सहित सरकारी क्षेत्र के उद्यमों में सरकारी निवेश के प्रबंधन के लिए एक नई नीति अनुमोदित की गई है। नई परियोजनाओं में निवेश हेतु संसाधनों के सृजन के लिए हमें सीपीएसईस की परिसंपत्तियों का सहारा लेना होगा। नई परियोजनाओं में निवेश के लिए हम सीपीएसईस को अपनी अलग-अलग परिसंपत्तियों जैसे कि भूमि, विनिर्माण इकाईयों का विनिवेश करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे ताकि उनका परिसंपत्ति मूल्य निर्मुक्त हो सके। नीति आयोग सामरिक बिक्री के लिए सीपीएसईस की पहचान करेगा (i) सामरिक विनिवेश के लिए क्रियाविधि और तंत्र के संबंध में व्यापक अनुदेश/परिपत्र 29 फरवरी, 2016 को नीति आयोग सहित सभी संबंधित मंत्रालयों/विभागों को जारी कर दिए गए हैं।

    (ii) नीति आयोग की रिपोर्ट और सीजीडी की अनुशंसाओं के आधार पर सीसीईए ने 27 अक्तूबर, 2016 को आयोजित अपनी बैठक में सीपीएसईस, सीपीएसईस की इकाईयों और सीपीएसईस की सहायक कंपनियों के सामरिक विनिवेश के लिए "सैद्धान्तिक" अनुमोदन प्रदान कर दिया है।

    (iii) प्रशासनिक मंत्रालयों से उन सीपीएसईस के सामरिक विनिवेश की प्रक्रिया आरंभ करने का अनुरोध किया गया है जिनके लिए सीसीईए द्वारा `सैद्धांतिक` अनुमोदन प्रदान कर दिया गया है।

    (iv) सामरिक विनिवेश सौदों में समानता और दक्ष कार्यान्वयन के प्रयोजन हेतु सरकारी इक्विटी के विनिवेश और मूल सीपीएसई की सहायक कंपनी की इक्विटी के विनिवेश और सीपीएसईस की इकाईयों की बिक्री के संबंध में विनिर्दिष्ट समय के अंदर संपन्न की जाने वाली `गतिविधियों का प्रवाह` तैयार किया गया है और गतिविधियों को विनिर्दिष्ट समय-सीमा के अंदर संपन्न किए जाने के लिए उसके बारे में संबंधित मंत्रालयों/विभागों को संसूचित कर दिया गया है।

    (V) सीपीएसईस के सामरिक विनिवेश की प्रक्रिया सीसीईए द्वारा अनुमोदित क्रियाविधि और तंत्र के अनुसार आरंभ कर दी गई है।

    (VI) सामरिक विनिवेश के लगभग सभी मामलों में सौदा सलाहकारों, विधिक सलाहकारों और परिसंपत्ति मूल्य निर्धारकों की नियुक्ति कर ली गई है और प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं।

    (VII) वैकल्पिक तंत्र ने 05 अक्तूबर, 2017 को आयोजित अपनी बैठक में निवेश और लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के दिनांक 04 अक्तूबर, 2017 के नोट पर विचार किया जिसमें नौ (9) सीपीएसईस के सामरिक विनिवेश के संदर्भ में मूल्यांकन समिति द्वारा तय की गई रूचि की अभिव्यक्तियों के संबंध में सीजीडी की सिफारिशें सन्निहित थीं। वैकल्पिक तंत्र ने आठ (8) सीपीएसईस के लिए रूचि की अभिव्यक्तियों को अनुमोदित कर दिया है। विभागों/मंत्रालयों से अनुमोदन के अनुसार परिवर्तन करने के बाद रूचि की अभिव्यक्तियों को प्रकाशित करने के लिए कहा गया है।