प्रमुख उपलब्धियां

क्र.सं. महीना उपलब्धियां
1 अगस्त, 2019
  1. क. अगस्त, 2019 के दौरान आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ)/अनुवर्ती सार्वजनिक पेशकश (एफपीओ) के मामलों में हुई प्रगति: (i) केआईओसीएल लि. : एफपीओ के माध्यम से घरेलू बाजार में केआईओसीएल लि. के विनिवेश के लिए पंजीयक की नियुक्ति के लिए प्रस्ताव हेतु अनुरोध (आरएफपी) दिनांक 7/08/2019 को जारी किया गया। (ii) मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लि. (एमडीएल): वैकल्पिक तंत्र ने दिनांक 02/08/2019 को अपनी बैठक में निर्गम के आकार और एमडीएल में भारत सरकार की 100 प्रतिशत शेयरधारिता में से विनिवेश की मात्रा के संबंध में उच्चस्तरीय समिति (एचएलसी) की निम्नलिखित सिफारिशों को अनुमोदन किया। (क) बुक बिल्डिंग प्रक्रिया द्वारा आईपीओ के माध्यम से एमडीएल में भारत सरकार की 100 प्रतिशत शेयरधारिता में से 12.5 प्रतिशत शेयरों की सार्वजनिक पेशकश और एमडीएल के पात्र कर्मचारियों के लिए पश्च निर्गम पूंजी में से 5 प्रतिशत तक आरक्षण (ख) एमडीएल के कर्मचारियों के लिए शेयरों का आरक्षण उपरोल्लिखत कुल 12.5 प्रतिशत शेयरों की सार्वजनिक पेशकश से अधिक होगा। (iii) टीएचडीसी लि. : विधिक सलाहकार (एलए) और बही संचालक अग्रणी प्रबंधक (बीआरएलएमएस) की नियुक्ति हेतु आरएफपी जारी किया गया।
  2. ख. अगस्त, 2019 के दौरान बिक्री की पेशकश (ओएफएस) के मामलों में हुई प्रगति: इरकॉन: बही संचालक अग्रणी प्रबंधक और विधिक सलाहकार (एलए) के चयन के लिए दिनांक 30/08/2019 को अंतर मंत्रालय दल (आईएमजी) की दूसरी बैठक आयोजित की गई थी।
  3. ग. अगस्त, 2019 के दौरान महत्वपूर्ण सामरिक विनिवेश के मामलों में हुई प्रगति : (i) विगनयन इंडस्ट्रीज लि. (वीआईएल:) वैकल्पिक तंत्र (एएम) ने अपनी दिनांक 23/08/2019 की बैठक में बीईएमएल लि. की एक सहायक कंपनी वीआईएल के बंदीकरण/विनिवेश के लिए विनिवेश संबंधी सचिवों के प्रमुख दल (सीजीडी) की निम्नलिखित सिफारिशों का अनुमोदन किया। (क) विगनयन इंडस्ट्रीज लि. (वीआईएल:) का सामरिक विनिवेश किया जा सकता है। वीआईएल के सामरिक विनिवेश की प्रक्रिया बीईएमएल लि./रक्षा उत्पादन विभाग (डीओडीपी) दवारा आगे बढ़ाई जा सकती है और चार माह के अंदर पूरी की जा सकती है। यदि कोई सामरिक खरीददार नही मिलता है तो डीओडीपी/बीईएमएल द्वारा वीआईएल के बंदीकरण की प्रक्रिया आरंभ की जाएगी। (ख) वीआईएल की लगभग 10 एकड़ सरप्लस भूमि को मिरर कंपनी को हस्तांतरित किया जा सकता है और भूमि के वास्तविक मूल्य को निर्मुक्त करने के लिए इसे अलग से बेचा जा सकता है। सरप्लस भूमि की बिक्री की कार्रवाई वीआईएल के विनिवेश के साथ-साथ आरंभ की जा सकती है। (ii) एनएमडीसी लि. और नागरनार इस्पात संयंत्र : सीजीडी ने एनएमडीसी के अविलयन और नागरनार इस्पात संयंत्र की सामरिक बिक्री से संबंधित दीपम के प्रस्ताव पर विचार किया। इस संबंध में सीजीडी की सिफारिशों को शामिल करते हुए एक सीसीईए नोट आरंभ किया गया। (iii) इंजीनियरिंग प्रोजेक्टस (इंडिया) लि. (ईपीआईएल): वैकल्पिक तंत्र दवारा (एएम) दवारा दिनांक 20/06/2019 को संशोधित रूचि की अभिव्यक्ति (ईओआई) का अनुमोदन किया गया, जिसको समाचार-पत्रों में विज्ञपित किया गया। रूचि की अभिव्यक्तियां दिनांक 13/08/2019 तक आमंत्रित की गई थी जिसे बढ़ाकर दिनांक 13/09/2019 कर दिया गया था। (iv) पवन हंस लि. (टीएचएल): वैकल्पिक तंत्र के अनुमोदन के पश्चात, नया प्राथमिक सूचना ज्ञापन/रूचि की अभिव्यक्ति दिनांक 11/07/2019 को जारी की गई। रूचि की अभिव्यक्ति की प्राप्ति की अंतिम तारीख 22/08/2019 थी जिसे बढ़ाकर 12/09/2019 कर दिया गया था। (v) सेल की तीन इकाईयां: भद्रावती, सेलम और दुर्गापुर: रूचि की अभिव्यक्ति प्रस्तुत करने की अंतिम तारीख को बढ़ाकर 10/09/2019 कर दिया गया था। (vi) एचएलएल लाइफ केयर लि.: रूचि की अभिव्यक्ति (ईओआई)/प्राथमिक सूचना ज्ञापन(पीआईएम) को अद्यतित करने और मूल्यांकन समिति (ईसी) की बैठक को आयोजित करने के लिए दिनांक 23/08/2019 को सचिव, स्वास्थ्य मंत्रालय को एक अर्द्ध-शासकीय पत्र भेजा गया था। इसके साथ-साथ सामरिक विनिवेश की रूपरेखा को अंतिम रूप देने के लिए दिनांक 28/08/2019 को दीपम में संयुक्त सचिव (स्वास्थ्य) और सौदा सलाहकार के साथ एक बैठक आयोजित की गई थी। (vii) इंडिया मेडिसिन्स एण्ड फार्मास्यूटिकल्स कार्पोरेशन लि. आईएमपीसीएल: सौदा सलाहकार ने टिप्पणियों हेतु दिनांक 19/08/2019 को बोलीदाताओं के साथ मसौदा शेयर खरीद करार (एसपीए) साझा किया। रिपोर्टों और आरएफपी एवं एसपीए का अनुमोदन करने के लिए ईसी की बैठक आयोजित करने हेतु दिनांक 23/08/2019 को एक अर्द्ध-शासकीय पत्र सचिव (आयुष) को भेजा गया।
  4. घ. अगस्त, 2019 के दौरान आयोजित महत्वपूर्ण बैठकें : (i) एफसीआई अरावली जिप्सम एवं मिनरल्स (इंडिया) लि. (एफएजीएमआईएल), वैपकॉस लि. और टेलीकम्यूनिकेशन्स कंसल्टेन्टस इंडिया लि. (टीसीआईएल) की आंरभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के संबंध में मध्यस्थों के चयन के लिए दिनांक 07/08/2019 को अंतर-मंत्रालय दल की एक बैठक आयोजित की गई थी। बही संचालक अग्रणी प्रबंधक (बीआरएलएम) के चयन हेतु दिनांक 10/08/2019 को प्रस्ताव हेतु अनुरोध जारी किया गया। (ii) सीपीएसईस/पीएसयूस/अन्य सरकारी संगठनों की परिसंपत्तियों के मुद्रीकरण हेतु परामर्शदायी फर्मों को सूची में शामिल करने के लिए दिनांक 08/08/2019 और दिनांक 13/08/2019 को सचिव, दीपम की अध्यक्षता में अंतर-मंत्रालय दल की बैठकें आयोजित की गई थीं। (iii) परिसंपत्ति मुद्रीकरण हेतु बीईएमएल लि. की परिसंपत्तियों की पहचान करने/चयन करने के लिए सचिव दीपम की अध्यक्षता, सचिव, रक्षा उत्पादन विभाग की सह-अध्यक्षता में दिनांक 27/08/2019 को अंतर-मंत्रालय दल की एक बैठक का आयोजन किया गया। 6 सीपीएसईस नामत: (i) हिन्दुस्तान केबल्स लि. (ii) एचएमटी वाचेस लि.(iii) भारत पंप्स एण्ड कम्प्रेशरस लि. (iv) स्कूटर इंडिया लि. (v) इंस्ट्रूमेंटेशन लि. और (vi) ब्रिज एण्ड रुफ कंपनी लि. की परिसंपत्तियों की पहचान करने/चयन करने के लिए सचिव, दीपम की अध्यक्षता और सचिव, भारी उद्योग विभाग की सह-अध्यक्षता में एक अंतर-मंत्रालय दल की बैठक भी आयोजित की गई थी। (iv) वित्तीय क्षेत्र एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) जिसमें सूचीबद्ध सरकारी क्षेत्र के बैंकों (पीएसबीएस), सरकारी क्षेत्र की बीमा कंपनियों (पीएसआईसीएस) और सरकारी वित्तीय संस्थानों (पीएफआईएस) के शेयर शामिल हैं, के सृजन और शुरूआत के लिए सलाहकार के चयन हेतु दिनांक 07/08/2019 को अंतर-मंत्रालय दल की बैठक आयोजित की गई। अंतर-मंत्रालय दल ने प्रस्तावित वित्तीय क्षेत्र ईटीएफ के लिए एक सलाहकार के तौर पर मैसर्स आईसीआईसीआई सिक्योरिटिस की सिफारिश की और वित्त मंत्री ने इसका अनुमोदन किया। सलाहकार को नियुक्ति पत्र जारी कर दिया गया है। (v) एयर इंडिया में संचालनात्मक और वित्तीय दक्षता में हुए सुधारों की समीक्षा करने के लिए मंत्रिमंडल सचिव की अध्यक्षता में विनिवेश संबंधी सचिवों के प्रमुख दल (सीजीडी) की बैठक दिनांक 14/08/2019 को आयोजित की गई थी। एयर इंडिया में विनिवेशित किए जाने वाले भारत सरकार के शेयरों की प्रतिशतता, सामरिक विनिवेश के लिए रूचि की अभिव्यक्ति (ईओआई) में इच्छुक बोलीदाताओं के लिए पात्रता संबंधी मापदंड़ों पर विचार करने के लिए मंत्रिमंडल सचिव की अध्यक्षता में सीजीडी की एक बैठक भी दिनांक 23/08/2019 को आयोजित की गई थी। (vi) सीपीएसईस के सामरिक विनिवेश के लिए मौजूदा क्रियाविधि और तंत्र में संशोधन के संबंध में दिनांक 30/08/2019 को एक सीसीईए नोट मंत्रिमंडल सचिवालय को विचारार्थ एवं निर्णय हेतु भेजा गया। (vii) दिनांक 27/05/2016 के “सीपीएसईस के पूंजीगत पुनर्गठन हेतु दिशानिर्देशों” के आधार पर 06 सीपीएसईस नामत: एसजेवीएन लि., मॉयल, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लि. एनबीसीसी, इरकॉन इंटरनेशनल और राइटस लि. की वापस खरीद पर विचार करने के लिए दिनांक 29/08/2019 को सचिव (दीपम) की अध्यक्षता में अंतर-मंत्रालय दल (आईएमजी) की बैठक आयोजित की गई थी।
  5. ड. अगस्त, 2019 के दौरान घरेलू प्रचार प्रसार (i) मझगांव शिपबिल्डर्स लि. (एमडीएल) की आईपीओ के संबंध में दिनांक 27 से 30 अगस्त, 2019 और 3 सितंबर, 2019 को घरेलू प्रचार-प्रसार मुबंई में आयोजित किया गया था।
2 जुलाई, 2019
  1. क. जुलाई, 2019 माह के दौरान संपन्न सौदे (i) सीपीएसई ईटीएफ (एफएफओ V) सीपीएसई ईटीएफ की अनुवर्ती फण्ड पेशकश (एफएफओ) V 18 एवं 19 जुलाई, 2019 के दौरान संपन्न की गई थी। सरकार को विनिवेश प्राप्ति के रूप में 10,000.39 करोड़ रूपए की धनराशि प्राप्त हुई। इस सौदे को मिला कर जुलाई, 2019 के अंत तक विनिवेश प्राप्ति के रूप में कुल 12,357.39 करोड़ रूपए की धनराशि प्राप्त हुई। ख. जुलाई, 2019 माह के दौरान आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ), अनुवर्ती सार्वजनिक पेशकश (एफपीओ) के मामलों में हुई प्रगति (i) मझगांव डॉक शिपबिल्डर्श लि. (एमडीएल) दिनांक 09/07/2019 को एमडीएल आईपीओ की समीक्षा बैठक आयोजित की गई थी। इसके अलावा दिनांक 23/07/2019 को एमडीएल के सूचीकरण के संबंध में उच्च स्तरीय समिति (एचएलसी) की बैठक आयेाजित की गई थी और यह सुझाव दिया गया था कि अगस्त, 2019 के पहले सप्ताह तक मसौदा रेड हेयरिंग प्रोस्पेक्टस (डीआरएचपी) नए सिरे से दायर किया जाए और निर्गम की शुरूआत दिनांक 30/09/2019 से पहले की जाए। (ii) केआईओसीएल लि. दीपम ने एफपीओ पद्धति के माध्यम से केआईओसीएल लि. के विनिवेश के लिए बही संचालक अग्रणी प्रबंधक (बीआरएलएम) के रूप में मैसर्स आईडीबीआई केपिटल और विधिक सलाहकार के रूप में मैसर्स एसएनजी एवं पार्टनर्स को दिनांक 18/07/2019 को नियुक्ति पत्र जारी किए थे। दिनांक 26/07/2019 को सौदे के लिए एक शुरूआती बैठक भी आयोजित की गई थी। (iii) टेलीकम्युनिकेशन कंसल्टेन्श इंडिया लि. (टीसीआईएल) टीसीआईएल की आईपीओ के लिए संबंधित विभागों से टिप्पणियां आमंत्रित करने हेतु दिनांक 24/07/2019 को आर्थिक कार्य संबंधी मंत्रीमंडल समिति (सीसीईए) के लिए मसौदा नोट परिचालित किया गया। (iv) टीएचडीसी लि. विधिक सलाहकार और बीआरएलएमएस की नियुक्ति हेतु प्रस्ताव हेतु अनुरोध (आरएफपी) जारी किया गया। (v) आईआरसीटीसी दिनांक 11/07/2019 को निर्गम के आकार और भारत सरकार की विक्रय की जाने वाली शेयरधारिता और आईआरसीटीसी की आईपीओ के लिए अन्य संबंधित मामलों का निर्धारण करने के लिए उच्च स्तरीय समिति और वैकल्पिक तंत्र की बैठकें आयोजित की गई। (vi) रेलटेल रेलटेल आईपीओ के संबंध में बही संचालक अग्रणी प्रबंधकों (बीआरएलएमस) और विधिक सलाहकारों की नियुक्ति की गई।
  2. ग. जुलाई, 2019 माह के दौरान बिक्री की पेशकश (ओएफएस) के मामलों में हुई प्रगति (i) राइटस राइटस ओएफएस के संबंध में मर्चेंट बैंकरों और विधिक सलाहकार की नियुक्ति की गई। .(ii) इरकॉन विधिक सलाहकार और मर्चेंट बैंकरों की नियुक्ति के लिए प्रस्ताव हेतु अनुरोध (आरएफई) जारी किया गया था। घ. जुलाई, 2019 माह के दौरान सामरिक विनिवेश के महत्वपूर्ण मामलों में प्रगति (i) कामराजार पोर्ट लि. (केपीएल) केपीएल के सामरिक विनिवेश के लिए सौदा सलाहकार और विधिक सलाहकार की एक परिसंवाद बैठक दिनांक 01/07/2019 को दीपम में आयोजित की गई थी। (ii) मिश्र धातु इस्पात संयंत्र (दुर्गापुर) दिनांक 04/07/2019 को प्रारंभिक सूचना ज्ञापन (पीआईएम)/ रूचि की अभिव्यक्ति (ईओआई) जारी की गयी। (iii) सेलम इस्पात संयंत्र एवं भद्रावती इस्पात संयंत्र दिनांक 04/07/2019 को प्रारंभिक सूचना ज्ञापन (पीआईएम)/ रूचि की अभिव्यक्ति (ईओआई) जारी की गयी। प्रस्तुतीकरण की तारीख को बढ़ाकर 23/08/2019 कर दिया गया था। (iv) पवन हंस लि. (पीएचएल) वैकल्पिक तंत्र (एएम) के अनुमोदन के पश्चात दिनांक 11/07/2019 को नया पीआईएम/ईओआई जारी की गई थी। रूचि की अभिव्यक्ति को प्राप्त करने की अंतिम तारीख 22/08/2019 है। (v) एअर इंडिया एअर इंडिया विशिष्ट वैकल्पिक तंत्र (एआईएसएएम) का पुनर्गठन किया गया। एअर इंडिया की सहायक कंपनी, एअर इंडिया ट्रांसपोर्ट सर्विसेस लि. (एआईएटीएसएल), की बिक्री के लिए पीआईएम/ईओआई दिनांक 05/02/2019 को एआईएएचएल दवारा के जारी की गई थी। प्रस्तुतीकरण की तारीख को बढ़ाकर 26/08/2019 कर दिया गया था। (vi) एचएलएल लाइफ केयर लि. एचएलएल लाइफ केयर लि. के सामरिक विनिवेश के लिए एक समीक्षा बैठक दिनांक 05/07/2019 को दीपम में आयोजित की गई थी। (vii) भारत पम्प एवं कम्प्रेशर लि. (बीपीसीएल) संभावित बोलीदाताओं से रूचि की अभिव्यक्तियां प्राप्त की गई। वैकल्पिक तंत्र दवारा शेयर खरीद करार (एसपीए) का अनुमोदन किया गया। अर्हता प्राप्त संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबीएस) से दिनांक 01/08/2019 तक वित्तीय बोलियां आमंत्रित करने हेतु प्रस्ताव हेतु अनुरोध दिनांक 17/07/2019 को जारी किया गया था। कोई बोली प्राप्त नहीं हुई थी। (viii) भारत अर्थ मूवर्स लि. (बीईएमएल) गैर प्रमुख अधिशेष परिसंपत्तियों के ब्यौरे को शीघ्रता से उपलब्ध कराने के संबंध में दिनांक 16/07/2019 को दीपम दवारा रक्षा उत्पादन विभाग (डीओडीपी) को अनुस्मारक जारी किया गया। डीओडीपी दवारा दीपम को टिप्पणियां भेजी गई। (ix) प्रोजेक्टश एवं डेवलेपमेंट इंडिया लि. संशोधित पीआईएम/ईओआई को अंतिम रूप देने के संबंध में मूल्यांकन समिति की बैठकें दिनांक 05/04/2019, 17/05/2019 एवं 26/07/2019 को आयोजित की गई थी। विनिवेश संबंधी सचिवों के प्रमुख दल (सीजीडी) और वैकल्पिक तंत्र के अनुमोदन के पश्चात पीआईएम/ईओआई जारी की जाएगी। (x) हिन्दुस्तान प्रीफैब लि. (एचपीएल) एचपीएल के बंदीकरण के संबंध में आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय से प्राप्त मसौदा मंत्रीमंडल नोट की जांच की गई थी और टिप्पणियां उस मंत्रालय को अग्रेषित की गईं ।
  3. ड. जुलाई, 2019 माह के दौरान संपन्न महत्वपूर्ण बैठकें (i) सार्वजनिक क्षेत्र की समान्य बीमा कंपनियों का विलय/अधिग्रहण सार्वजनिक क्षेत्र की समान्य बीमा कंपनियों के विलय/अधिग्रहण के संबंध में आगे बढ़ने के लिए दिनांक 01/07/2019 को अंतर मंत्रालय दल (आईएमजी) की बैठक आयोजित की गई थी। (ii) बीईएमएल लि. का परिसंपत्ति मुद्रीकरण बीईएमएल लि. के परिसंपत्ति मुद्रीकरण हेतु एक समीक्षा बैठक दिनांक 10/07/2019 को दीपम में आयोजित की गई थी। (iii) सीपीएसईस के सामरिक विनिवेश हेतु मौजूदा क्रियाविधि और तंत्र में संशोधन के संबंध में मसौदा सीसीईए नोट के बारे में दिनांक 25/07/2019 को प्रधानमंत्री कार्यालय में एक बैठक आयोजित की गई थी। मौजूदा अनुदेशों के अनुसार अंतर मंत्रालय/विभागीय परामर्श हेतु मसौदा सीसीईए नोट दिनांक 31/07/2019 को परिचालित किया गया था। च. जुलाई, 2019 माह के दौरान घरेलू प्रचार-प्रसार (i) राइटस की ओएफएस के संबंध में दिनांक 17 एवं 18 जुलाई 2019 को मुम्बई में घरेलू प्रचार-प्रसार किया गया था।
  • चालू वर्ष 2019-20 के लक्ष्य और अब तक की उपलब्धि

    क्र.सं. वित्त वर्ष लक्ष्य(रुपये करोड़ में) उपलब्धि (रुपये करोड़ में)
    1. 2019-20 1,05,000 12,357.49

    पिछले 8 वर्षों के लक्ष्य और उपलब्धियां

    क्र.सं. वित्त वर्ष लक्ष्य(रुपये करोड़ में) उपलब्धि (रुपये करोड़ में)
    1. 2011-12 40,000.00 13,894
    2. 2012-13 30,000.00 23,957
    3. 2013-14 40,000.00 15,819
    4. 2014-15 43,425.00 24,349
    5. 2015-16 41,000.00 (सामरिक विनिवेश से 28,500 रुपये को छोड़कर) 23,997*
    6. 2016-17 56,500 (जिसमें सीपीएसईस के विनिवेश से 36,000 करोड़ रुपये और सामरिक विनिवेश से 20,500 करोड़ रुपये शामिल हैं।) 46,246.58 (जिसमें सीपीएसईस के विनिवेश से 35,467.87 करोड़ रुपये और सामरिक धारिता के विनिवेश तथा एसयूयूटीआई के निवेश के प्रबंधन से आय से 10,778.71 करोड़ रुपये करोड़ रुपये शामिल हैं।)
    7. 2017-18 1,00,000 1,00,056.91
    8. 2018-19 80,000 84,972.16

    बजट घोषणाएं और कार्यान्वयन स्थिति, 2018-19

    क्र.सं. पैरा सं. घोषणा का सार कार्यान्वयन स्थिति
    1. 102 सरकार और बाजार नियामकों ने मौद्रीकरण माध्यमों जैसे कि इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट(InvIT) और रियल इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट(ReIT) के विकास के लिए आवश्यक उपाय किए हैं। सरकार अगले वर्ष से InvIT का उपयोग करते हुए चुनिंदा सीपीएसईस की परिसंपत्तियों का मौद्रीकरण करना आरंभ करेगी। सीपीएसईस की परिसंपत्तियों का मौद्रीकरण करने के लिए विभागसंस्थागत ढ़ांचे का मसौदा तैयार कर रहा है।
    2. 123 सरकार ने दो बीमा कंपनियों सहित 14 सीपीएसईस को स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध करने हेतु अनुमोदन प्रदान किया है। सरकार ने 24 सीपीएसईस में सामरिक विनिवेश की प्रक्रिया भी आरंभ् कर दी है। इसमें एयर इंड़िया का सामरिक निजीकरण भी शामिल है। (i) इनमेँ से ओएनजीसी-एचपीसीएल सौदा वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान संपन्न कर लिया गया है। 23 सीपीएसईस/सीपीएसईस की इकाईयों की विनिवेश प्रक्रिया कार्यान्वयन के विभिन्न चरणों में है।

    (ii) एयर इंड़िया के लिए ईओआई/पीआईएम 28.03.2018 को जारी किया गया था। कोई बोली प्राप्त नहीं हुई।
    3. 125 सरकार ने 14,500 करोड़ रू. जुटाने के लिए ईटीएफ भारत 22 की शुरूआत की जो सभी खण्ड़ों में ओवरस्बस्क्राइब हुआ। दीपम ऋण ईटीएफ सहित और ईटीएफ पेशकशें लाएगा। (i) माननीय वित्त मंत्री ने ऋण ईटीएफ के सृजन,शुरूआत और कार्यान्वयन के लिए एक सलाहकार, एक बाजार निर्माता और एक विधिक सलाहकार की नियुक्ति के लिए अंतर-मंत्रालय समूह(आईएमजी) के गठन का अनुमोदन प्रदान कर दिया है।

    (ii) आईएमजी ने सलाहकार की नियुक्ति के लिए प्रस्ताव हेतु अनुरोध(आरएफपी) अनुमोदित कर दिया है। सलाहकार की नियुक्ति हेतु इच्छुक पार्टियों से बोलियां आमंत्रित करने के लिए प्रस्ताव हेतु अनुरोध(आरएफपी) जारी कर दिया गया है।

    बजट घोषणाएं और कार्यान्वयन स्थिति, 2017-18

    क्र.सं. पैरा सं. घोषणा का सार कार्यान्वयन स्थिति
    1. 104 रेलवे पीएससीस जैसे कि आईआरसीटीसी, आईआरएफसी और इरकॉन के शेयरों को स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध किया जाएगा। (i) बीआरएलएम,विधिक सलाहकारों, पंजीयकोंऔर लेखापरीक्षकों जैसे मध्यस्थों की नियुक्ति कर ली गई है।

    (ii) बीआरएलएम तथा सीपीएसईस द्वारा उचित उद्यमिता की जा रही है।

    कार्यान्वयन के अधीन

    2. 103 सरकारी क्षेत्र के उद्यमों के सूचीकरण से जनता के प्रति जवाबदेही बढ़ जाएगी और इन कंपनियों का वास्तविक मूल्य निर्मुक्त हो जाएगा। सरकार अभिज्ञात सीपीएसईस का स्टॉक एक्सचेंजों में समयबद्ध सूचीकरण सुनिश्चित करने के लिए एक संशोधित तंत्र और क्रियाविधि स्थापित करेगी। पिछले बजट में मैंने जिस विनिवेश नीति की घोषणा की थी, वह जारी रहेगी। जैसाकि बजट 2017-18 में घोषित किया गया है, सरकार ने सीपीएसईस के सूचीकरण के लिए संकेतात्मक समय-सीमा के साथ एक तंत्र/क्रियाविधि की 17.02.2017 को शुरूआत की है। प्रशासनिक मंत्रालयों/विभागों से लागू अधिनियमों, नियमों और विनियमों के अनुसार अभिज्ञात सीपीएसईस का समयबद्ध सूचीकरण संपन्न करने का अनुरोध किया गया है।

    कार्यान्वित

    3. 106 10 सीपीएसईस के शेयरों वाले हमारे ईटीएफ को हाल ही की अनुवर्ती फंड पेशकश (एफएफओ) को जबरदस्त प्रतिक्रिया हासिल हुई है। आगे भी शेयरों के विनिवेश के लिए हम ईटीएफ का एक साधन के रूप में उपयोग करते रहेंगे। तद्नुसार, एक नए ईटीएफ की वर्ष 2017-18 में शुरूआत की जाएगी जिसमें विविधीकृत सीपीएसईस के शेयर और अन्य सरकारी शेयरधारिता शामिल होगी। (i) जैसा कि वर्ष 2017-18 के बजट में घोषणा की गई थी भारत 22 की नई फंड पेशकश सब्सक्रिप्शन हेतु 14 नवंबर, 2017 को खोली गई थी। पेशकश निवेशकों के सभी हलकों में ओवरसब्सक्राइब हुई जैसे कि स्थायी निवेशक, रिटायरमेंट फंड, खुदरा निवेशक व अन्य अर्थात क्यूआईबी/एचएनआई। निवेशकों से 3.30 लाख से भी अधिक आवेदन प्राप्त हुए थे।

    (ii) जबकि स्थायी खंड 6 गुना ओवर सब्सक्राइब हुआ और पेशकश कुल मिलाकर 4 गुना से भी अधिक ओवर सब्सक्राइब हुई। एफआईआई श्रेणी के अधीन निर्गम से लगभग 1.5 बिलियन अमरीकी डॉलर (10,000 करोड़ रुपये) की धनराशि प्राप्त हुई।

    (iii) बड़ी संख्या में निवेशकों, विशेषकर खुदरा और रिटायरमेंट फंड श्रेणी के निवेशकों की मांग को पूरा करने के उद्देश्य से सरकार ने पेशकश के निर्गम के आकार को 14,500 करोड़ रुपये तक बढ़ाकर ओवर सब्सक्रिप्शन के भाग को अपने पास रखने का निर्णय लिया।

    कार्यान्वित