कोल इंडिया लि.

प्रेस सूचना ब्यूरो की 15 जून, 2010 की प्रेस विज्ञप्ति – कोल इंडिया लि. में भारत सरकार की शत-प्रतिशत शेयरधारिता में से 10% प्रदत्त इक्विटी पूंजी का विनिवेश

आर्थिक कार्य संबंधी मंत्रिमंडल समिति ने कोल इंडिया लि. में 100% शेयरधारिता में से 10% इक्विटी के बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के माध्यम से घरेलू बाजार में विनिवेश के प्रस्ताव का अनुमोदन किया है। 1% इक्विटी की पेशकश सीआईएल और इसकी आठ सहायक कंपनियों के कर्मचारियों को की जाएगी। आर्थिक कार्य संबंधी मंत्रिमंडल समिति ने फुटकर निवेशकों को मूल्य में 5% की छूट देने का भी निर्णय लिया है ताकि सरकारी क्षेत्र के उद्यम मे वृहत जनस्वामित्व को बढ़ावा दिया जा सके।

आर्थिक कार्य संबंधी मंत्रिमंडल समिति ने कंपनी और इसकी सहायक कंपनी के कर्मचारियों को 5% छूट देने का भी अनुमोदन किया है ताकि उन्हें कंपनी में शेयरधारक बनने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। इस विनिवेश के बाद कंपनी में भारत सरकार की शेयरधारिता घटकर 90% रह जाएगी।

केन्द्रीय सरकारी क्षेत्र का उद्यम कोल इंडिया लि. एक नवरत्न कंपनी है, जो कोयले और कोल उत्पादों के उत्पादन तथा विपणन में लगी हुई है। इस समय कंपनी की प्रदत्त इक्विटी पूंजी 6,316.36 करोड़ रुपए है और कंपनी की 100% इक्विटी पूंजी भारत सरकार के पास धारित है।

कोल इंडिया लि. की वेबसाइट के सुगम संदर्भ के लिए लिंक की व्यवस्था की जा रही है।