नेवेली लिग्नाइट कारपोरेशन (एनएलसी)

नेवेली लिग्नाइट कारपोरेशन की 5% प्रदत्त इक्विटी का विनिवेश

 

आर्थिक कार्य संबंधी मंत्रिमंडल समिति ने आज नेवेली लिग्नाइट कारपोरेशन में भारत सरकार की 93.56% शेयरधारिता में से 5% प्रदत्त इक्विटी पूंजी का सेबी के नियमों तथा विनियमों के अनुसार स्टॉक एक्सचेंजों के माध्यम से शेयरों की बिक्री की पेशकश के जरिए घरेलू बाजार में विनिवेश का अनुमोदन किया है। नेवेली लिग्नाइट कारपोरेशन की अधिकृत पूंजी 2,000 करोड़ रुपये है जिसमें से 31 मार्च, 2012 की स्थिति के अनुसार निर्गमित तथा सब्सक्राइब इक्विटी पूंजी 1,677.71 करोड़ रुपये है जिसमें 10 रुपये प्रति शेयर अंकित मूल्य के 167.771 करोड़ इक्विटी शेयर हैं। इस विनिवेश के बाद कंपनी में भारत सरकार की शेयरधारिता घट कर 88.56% रह जाएगी।

 

एनएलसी, कोयला मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रणाधीन केन्द्रीय सरकारी क्षेत्र का एक उद्यम है। एनएलसी की स्थापना, कंपनी अधिनियम 1956 के अधीन, बिजली उत्पादन के लिए लिग्नाइट की खुदाई के द्वारा भारत के दक्षिण राज्यों की बिजली की मांग को पूरा करने के उद्देश्य से वर्ष 1956 में की गई थी। कंपनी के पास तमिलनाडु तथा राजस्थान में लिग्नाइट की खानें तथा विद्युत स्टेशन हैं।

सुगम संदर्भ हेतु एनएलसी की वेबसाइट के लिए लिंक उपलब्ध कराया जा रहा हैः